यूक्रेन ने रूस पर लगाया संघर्ष विराम तोड़ने का आरोप, मारियुपोल से बाहर निकले निवासी ने बताया शहर की हालत नर्क जैसी

image

रूस और यूक्रेन के बीच का युद्ध अब 11वें दिन में प्रवेश कर चुका है। यूक्रेन की राजधानी कीव के उत्तर पश्चिम में मौजूद शहरों पर रूसी सेना के हमले अभी भी लगातार जारी हैं।

यहां से लोग सुरक्षित स्थानों की तरफ जाने की कोशिश कर रहे हैं। वो या तो पैदल या फिर किसी भी साधन के ज़रिए थोड़ा ज़रूरी सामान लेकर बाहर निकलने की कोशिश कर रहे हैं। कुछ लोगों का कहना है कि रूसी सेना राजधानी कीव की तरफ बढ़ने का प्रयास कर रही है और यहां शनिवार को पूरी रात लगातार गोलाबारी हुई है। इरपिन शहर होस्तोमेल एयरपोर्ट के नज़दीक है जिस पर कुछ दिन पहले रूसी सेना ने हमला किया था। ये यूक्रेन की राजधानी की तरफ बढ़ रहे रूसी सेना के काफ़िले के रास्ते के भी क़रीब है। 

यूक्रेन ने लगाया संघर्ष विराम के उल्लंघन का आरोप
इधर मारियुपोल और वोल्नोवांख़ा शहरों से लोगों को सुरक्षित बाहर निकालने की कोशिशें नाकाम हो गई हैं। यूक्रेनी अधिकारियों का कहना है कि युद्ध के दसवें दिन यानी शनिवार को अस्थायी संघर्ष विराम लागू तो किया गया लेकिन रूसी सेना ने आधे घंटे से कम वक़्त के लिए हमले रोके जिससे यहां से हज़ारों लोगों को बाहर नहीं निकला जा सका। 

यूक्रेन ने रूस पर मारियुपोल और वोल्नोवांख़ा में संघर्ष विराम का उल्लंघन करने का आरोप लगाया है। मारियुपोल के डिप्टी मेयर सग्रेई ओर्वोव ने कहा है कि रूसी सेना ने आधे घंटे से कम वक़्त के लिए हमले रोके और फिर लगातार गोलाबारी शुरू कर दी। उन्होंने आरोप लगाया कि स्कूलों और लोगों को बाहर निकालने के लिए तैयार की गई बसों पर हमले किए गए हैं। 

उन्होंने कहा, “रूसी सैनिक शहर को तबाह कर रहे हैं और यूक्रेन के लोगों को मार रहे हैं। हम सड़कों में पड़ी सभी लाशें तक नहीं उठा पाए। अगर आप मुझसे पूछें कि अब तक इस युद्ध में कितने लोग मारे गए हैं तो मैं कहूंगा कि मुझे नहीं पता। हम सड़कों पर पड़ी सभी लाशें उठा नहीं पा रहे, राष्ट्रपति पुतिन और रूसी सेना हर घंटे हर दिन शहर को नुक़सान पहुंचा रहे हैं। यहां शायद ही ऐसी कोई इमारत बची हो जो सही सलामत हो।”

यूक्रेन में नर्क जैसी स्थिति
मारियुपोल से बाहर निकलने में कामयाब रहे एक निवासी ने बताया कि शहर में स्थिति नर्क के जैसी है। मारियुपोल यूक्रेन का प्रमुख बंदरगाह शहर है जिसकी रूसी सेना ने घेराबंदी की हुई है। बीते कुछ दिनों से यहां न तो बिजली है औ न ही खाना। मिल रही ख़बरों के अनुसार यहां दवाओं की भी भारी कमी है। वहीं वोल्नोवांख़ा शहर को भी रूसी हमले में काफी नुक़सान पहुंचने की ख़बरें मिल रही हैं। रूस ने कहा है कि उसकी सेना अब पूर्व की तरफ भी आगे बढ़ रही है।  उसने कहा है कि डोनबास की तरफ सेना सात किलोमीटर आगे बढ़ने में कामयाब हुई है और इस बीच रास्ते में पड़ने वाले शहरों और कस्बों को अपने कब्ज़े में ले लिया है। 

Related Stories