द कश्मीर फाइल्स को लेकर नहीं थम रहा विवाद राजनीतिक गलियारों से लेकर बॉलीवुड तक दो हिस्सों में बटे

image

"द कश्मीर फाइल्स" फिल्म को लेकर शुरू हुआ विवाद अभी भी खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है। फिल्म रिलीज होने के बाद से राजनीतिक गलियारे हो या फिर बॉलीवुड दोनों दो हिस्सों में बटा हुआ नजर आ रहा है। एक तरफ जहां लोग लगातार फिल्म का समर्थन कर रहा है तो वहीं

कपिल शर्मा से शुरू हुआ यह विवाद अब राजनीतिक गलियारों में कॉन्ग्रेस और समाजवादी पार्टी को भी अपने साथ खींच लाया है।
इसमें देश की सबसे बड़ी राजनीतिक पार्टी में भारतीय जनता पार्टी लगातार इस फिल्म का समर्थन करते हुए दिखाई दे रही है देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी फिल्म के डायरेक्टर विवेक अग्निहोत्री एवं फिल्म म मुख्य किरदार निभा रहे अनुपम खेर से मुलाकात कर फिल्म की तारीफ की है साथ ही देशवासियों से फ़िल्म देखने का अनुरोध भी किया। 

कांग्रेस पार्टी के तरफ से रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट करते हुए लिखा की कांग्रेस ज़ुल्म होता देख आवाज उठाई, राजीव जी ने संसद का घेराव किया और पुनर्वास के लिए हज़ारों घर बनाये-नौकरियां दीं 
साथ ही अपने ट्वीट में बीजेपी के लिए लिखा कि "अपने समर्थन की सरकार होते हुए भी चुप्पी साध ली और राजनीतिक फ़ायदे के लिए 'रथ-यात्रा' लेकर निकल पड़े"। 

वहीं समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव ने लखीमपुर में पत्रकारों से बातचीत के दौरान कहा कि द कश्मीर फाइल्स फिल्म बनी ठीक है लेकिन "द लखीमपुर फाइल" भी बन सकती है। समाजवादी पार्टी की एक और दिग्गज नेता स्वामी प्रसाद मौर्य कहना है कि " द कश्मीर फाइल्स' में केवल कश्मीरी पंडितों का उत्पीड़न दिखाया गया है जबकि पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में कश्मीरी मुसलमानों, पंडितों और सरदारों को बुरी तरह समान रूप से उजाड़ा व प्रताड़ित किया गया था। पूरा दृश्य दिखाएं। अधूरी फिल्म दिखाने से आपसी सौहार्द और भाईचारा खत्म होगा।"

Related Stories