बिग ब्रेकिंग: केंद्रीय मंत्री के बेटे आशीष मिश्रा को लखीमपुर खीरी हिंसा मामले में कोर्ट ने दी जमानत

image

बीते 9 अक्टूबर, 2021 को गिरफ्तार किए गए आशीष मिश्रा को कोर्ट से जमानत आज मिली है संयोग से आज से ही उत्तर प्रदेश में पहले चरण का मतदान शुरू हुआ है।

इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने गुरुवार यानी आज लखीमपुर खीरी हिंसा मामले के मुख्य आरोपी केंद्रीय राज्य मंत्री (गृह) अजय मिश्रा के बेटे आशीष मिश्रा को जमानत दे दी है। ग़ौर करने करने वाली बात है कि जमानत आज के दिन मिली है जब आज से ही उत्तर प्रदेश में पहले चरण का मतदान शुरू हुआ है। इस पहले चरण में मुख्य रूप से उत्तर प्रदेश राज्य के पश्चिमी भाग में मतदान हो रहा है। 

मुख्या आरोपी आशीष मिश्रा को बीते 9 अक्टूबर, 2021 को लखीमपुर खीरी हिंसा मामले में गिरफ्तार किया गया था, जिसमें अब निरस्त किए गए कृषि कानूनों के विरोध में कम से कम चार किसान और एक पत्रकार की मौत हो गई थी। मालूम हो कि बीते साल 3 अक्टूबर को हुई इस घटना में विशेष जांच (एसआईटी) द्वारा दायर आरोपपत्र में आशीष मिश्रा को मुख्य आरोपी घोषित किया गया है। पूरे देश को झकझोर देने वाली इस घटना में, केंद्रीय मंत्री के काफ़िले की एक कार ने विरोध प्रदर्शन कर रहे किसानो पर अपनी कार चढ़ा दी थी जिस वजह से  चार किसानों की कुचलकर मौत हो गई थी। 

इस दर्दनाक नरसंघार के बाद सभी विपक्षी दल इस मुद्दे पर टेनी को केंद्रीय मंत्रालय से बर्खास्त करने की मांग कर रहे हैं।
उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी में अजय मिश्रा की गिनती सूबे के सबसे बड़े नेताओं में होती है। 2011 में एक बलात्कार और हत्या के मामले में आंदोलन का नेतृत्व करने के बाद अजय मिश्रा का प्रभाव इस ज़िले में काफी बढ़ गया था। जिसके बाद अगले ही वर्ष, अजय मिश्रा को निघासन से विधायक के रूप में चुना गया। 2014 और 2019 में, अजय मिश्रा लखीमपुर खीरी से सांसद चुने गए और जिसके बाद से अजय मिश्रा को केंद्रीय मंत्री बनाया गया है।

Related Stories